स्वर और व्यंजन अभी तक हमने कंठ्य , मूर्धन्य, दंत्य, ओष्ठ्य आदि लघुतम ध्वनि इकाइयों अर्थात् वर्णों की जो सूचियाँ दी हैं, उनमें से कुछ

Read More

वर्ण-भेद हर जाति या वर्ग के पशु-पक्षी प्रायः अलग अलग तरह के शब्द करते हैं । कुत्ते भों-भों करते हैं, बकरियाँ मैं-मैं करती हैं, चूहे

Read More

प्राचीन तथा मध्य युगों में व्याकरण का क्षेत्र बहुत अधिक विस्तृत था। पर अब उसमें से भाषा विज्ञान, अर्थ विज्ञान और अलंकार शास्त्र ये तीन

Read More