प्राचीन तथा मध्य युगों में व्याकरण का क्षेत्र बहुत अधिक विस्तृत था। पर अब उसमें से भाषा विज्ञान, अर्थ विज्ञान और अलंकार शास्त्र ये तीन

Read More